समावेशी विकास सूचकांक

0
160

– भारत, समेकित विकास सूचकांक पर उभरती हुई अर्थव्यवस्थाओं के बीच 62 वें स्थान पर है, जबकि चीन 26 वें और पाकिस्तान की 47 वें स्थान पर है। भारत इस सूची में चीन और पाकिस्तान से पीछे है।
– नॉर्वे विश्व की सबसे समावेशी उन्नत अर्थव्यवस्था बनी हुई है, जबकि लिथुआनिया फिर से उभरती हुई अर्थव्यवस्थाओं की सूची में सबसे ऊपर है। 
– वर्ल्ड इकनॉमिक फोरम (डब्ल्यूईएफ) ने अपनी सालाना बैठक शुरू होने से पहले यह सूची जारी की है। डब्ल्यूईएफ की बैठक में इस साल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप सहित दुनिया के कई शीर्ष नेता हिस्सा लेंगे।
=>सूचकांक के मानक :-
– सूचकांक ‘जीवित मानकों, पर्यावरणीय स्थिरता और भविष्य की पीढ़ियों के आगे ऋणग्रस्तता से संरक्षण’ को ध्यान में रख कर बनाया गया है।
– डब्ल्यूईएफ ने नेताओं से आग्रह किया कि वे समावेशी विकास और विकास के नए मॉडल के लिए तत्काल कदम उठाएं, जो कि आर्थिक उपलब्धि के एक उपाय के रूप में जीडीपी पर निर्भरता अल्पकाल और असमानता को बढ़ावा दे रहा है।

=>पिछले साल था 60वां स्थान :-
– पिछले साल 79 विकासशील अर्थव्यवस्थाओं में भारत 60 वां स्थान पर रहा था, जबकि चीन के 15 वें और पाकिस्तान की 52 वें स्थान पर था।
– 2018 के सूचकांक में , जो 3 अलग-अलग मानक तय किए गए हैं जिसमें 103 अर्थव्यवस्थाओं की प्रगति को मापा गया है। इसमें वृद्धि और विकास, समावेश, और अंतर-पीढ़ीगत इक्विटी – को दो भागों में विभाजित किया गया है।
– पहले भाग में 29 उन्नत अर्थव्यवस्थाएं और दूसरे 74 उभरती हुई अर्थव्यवस्थाएं शामिल हैं सूचकांक ने अपने समग्र समावेशी विकास विकास स्कोर के पांच साल के रुझान के अनुसार देशों को पांच उप-श्रेणियों में वर्गीकृत किया है।

=>भारत से ज्यादा बेहतर प्रदर्शन इन देशों का :-
– भारत से ज्यादा बेहतर प्रदर्शन इन देशों का
सूचकांक बनाने वाले तीन मानकों में से, भारत को शामिल करने के लिए 72 वें स्थान पर, विकास और विकास के लिए 66 व अंतर-पीढ़ी इक्विटी के लिए 44 वें स्थान पर है। डब्ल्यूईएफ ने कहा है कि भारत के ऊपर स्थित पड़ोसी देशों में श्रीलंका (40), बांग्लादेश (34) और नेपाल (22) शामिल हैं।
– भारत के मुकाबले माली, युगांडा, रवांडा, बुरुंडी, घाना, यूक्रेन, सर्बिया, फिलीपींस, इंडोनेशिया, ईरान, मैसेडोनिया, मैक्सिको, थाईलैंड और मलेशिया बेहतर स्थान पर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here